Dating Tips

जिन्दगी का महकता गुलदस्ता

213 Posts

736 comments

Reader Blogs are not moderated, Jagran is not responsible for the views, opinions and content posted by the readers.
blogid : 2940 postid : 367

आज दिल शायराना है : कुछ हिन्दी शायरियां

Posted On: 2 Sep, 2011 Others में

  • SocialTwist Tell-a-Friend

आज मूड थोड़ा फ्रेश है. सुबह-सुबह पांच बजे उठकर पार्क में ना जानें कितने दिनों बाद टहलने का मौका मिला था उसके बाद घर का नाश्ता और ऑफिस में भी बॉस का ना होना सब मिला-जुला कर एक परफेक्ट मॉर्निग का आनंद. सुबह-सुबह मूड को अच्छा करने का काम एक हसीना ने भी किया जिसे देख कर दिला थोड़ा शायराना हो गया है. मेट्रो में मिली वह लड़की ना जाने कहां की थी पर उसे देखकर दिल प्रेमपुर की गलियों में खो गया और काफी लंबे समय बाद शायरी और गजले पढ़ने का मन किया.


वैसे हम शायर तो नहीं हो शायरी लिखे पर हां एक अच्छे पाठक जरूर हैं इसीलिए हमने इंटरनेट से कुछ बेहद मस्ती भरी हिन्दी शायरियां छांटी और कर दी पोस्ट. खाली बैठकर और करें भी क्या बस यही सब रह गया है अब तो.


तो चलिए आप भी मजे लिजिएं इन शायरियों के.



Hindi Love Shayariयादें होती हैं सताने के लिए !

कोई रूठता हैं फिर मनाने के लिए !!

रिश्ता बनाना कोई मुश्किल तो नहीं !

बस जान चली जाती हैं उसे निभाने के लिए !!


कहाँ वफा का सिला देते हैं लोग !

अब तो मोहब्बत की सजा देते हैं लोग !!

पहले सजाते हैं दिलो में चाहतों का ख्वाब !

फिर ऐतबार को आग लगा देते हैं लोग !!


pyar-se-pyar-shayari-imagesजिंदगी देने वाले , मरता छोड़ गये,

अपनापन जताने वाले तन्हां छोड़ गये,

जब पड़ी जरूरत हमें अपने हमसफर की,

वो जो साथ चलने वाले, रास्ता मोड़ गये॥


ना पूछ मेरे सब्र की इंतेहा कहाँ तक हैं,
तू सितम कर ले, तेरी हसरत जहाँ तक हैं,
वफ़ा की उम्मीद, जिन्हें होगी उन्हें होगी,
हमें तो देखना है, तू बेवफ़ा कहाँ तक हैं |


Hindi-Shayari-300x297चहरे पर हंसी छा जाती है!
आँखों में सुरूर आ जाता है!
जब तुम मुझे अपना कहते हो,
अपने पर गुरुर आ जाता है!


चलिए अब ज्यादा आशिकाना मत होइएं और पढ़िएं कुछ हास्य शायरियां:


तेरे दर पे सनम हजार बार आयेंगे…..
तेरे दर पे सनम हजार बार आयेंगे…..
घन्टी बजायेंगें और भाग जायेंगे!!


उनकी गली से गुज़रे…अजीब इत्तेफ़ाक था…
उनकी गली से गुज़रे…अजीब इत्तेफ़ाक था…
उन्होने फूल फेंका…गमला भी साथ था!! :lol:
:lol: :lol: :lol:




Tags:                                       

Rate this Article:

1 Star2 Stars3 Stars4 Stars5 Stars (7 votes, average: 3.86 out of 5)
Loading ... Loading ...

2 प्रतिक्रिया

  • SocialTwist Tell-a-Friend

Post a Comment

CAPTCHA Image
*

Reset

नवीनतम प्रतिक्रियाएंLatest Comments

जयपाल यादव के द्वारा
January 26, 2012

जब पढते है शायरी लिखी किसी की तो दिल को सकूं तो मिलता है ! ज्यादा कुछ नहीं बस धन्यवाद देना चाहेगा! आप ऐसे ही अच्छा लेखन परोषित करते रहे विनती है आपसे…………..

Lahar के द्वारा
September 17, 2011

अच्छा लगा आपका शायराना अंदाज !


topic of the week



latest from jagran