Dating Tips

जिन्दगी का महकता गुलदस्ता

218 Posts

721 comments

Reader Blogs are not moderated, Jagran is not responsible for the views, opinions and content posted by the readers.
blogid : 2940 postid : 68

प्यार और दोस्ती के बीच की लकीर

Posted On: 10 Dec, 2010 मस्ती मालगाड़ी में

  • SocialTwist Tell-a-Friend


हर खुशी हर गम का सहारा है दोस्ती,

हर आँख में बसने वाला नजारा है दोस्ती,

कमी है इस जमीं पर पूजने वालों की

वरना इस जमीं पर भगवान है दोस्ती



ऐसा कई बार होता है जब हमें लगता है कि हमारा दोस्त ही हमारा प्यार है. कई बार यह सही साबित होता है तो कई बार इतना गलत कि हमसे एक दोस्त छिन जाता है. दोस्‍तों की भीड़ में हम कभी-कभी प्रेमी को पहचानने में गलती कर देते हैं. कई बाद जिसे आप दोस्‍त कहते हैं उसी से प्‍यार करने लगते हैं. जबकि आपके प्रति उसके दिल में प्रेमिका जैसी कोई फीलिंग नहीं होती है. इसलिए दोस्‍ती और प्रेम के बीच सीमा रेखा खींचना बहुत जरूरी है.

love and dosti कोई हमारी बहुत मदद करता है और हमारे प्रति स्नेह दर्शाता है तो हम कहने लगते हैं कि यार हो सकता है वह लड़की या लड़का हमें प्यार करता है. लेकिन उस वक्त हम यह नहीं सोचते कि वह जिसे हम प्यार कह रहे है वह दरअसल दोस्ती का ही एक रुप है. दोस्ती प्यार से भी बढ़कर होती है. यूं तो सब प्यार को ही सबसे खूबसूरत मानते हैं लेकिन प्यार भी एक सीमा के बाद बदल जाता है पर दोस्ती तो होती ही हैं जिंदगी भर निभाने के लिए है.

प्यार और दोस्ती के बीच एक बहुत ही पतली सी लाइन है जो दोनों को अलग करती है. इस पतली सी लाइन को पहचानने के लिए विशेषज्ञों ने कुछ टिप्‍स बताएं है जो इस प्रकार हैं:

आप किसी दोस्‍त के प्रति अपनी भावनाओं को लेकर उलझन में हैं तो इन सवालों के जवाब देकर वास्‍तविकता का पता लगा सकते हैं


• क्या उसकी/उसका फोन आपके चेहरे पर मुस्कान लाता है?

• उसे खुश करने के लिए क्या आप गुप्त प्रयास करते हैं?

• क्या आप उसे अपने जीवन में विशेष महत्‍व देते हैं. साथ ही उसे स्‍पेशल होने का एहसास करवाते हैं.

• वह जब आपके किसी दोस्‍त से बात करता/करती है तो क्या आप ईर्ष्या करते हैं?

• जब वह आपको बधाई देता है तो आप शर्मा जाते हैं?

• क्या आपको ऐसा लगता है कि उसके बिना आपका जीवन अधूरा है?

यदि इन सभी प्रश्‍नों का जवाब हां है तो वह मात्र आपका दोस्‍त नहीं बल्कि वह आपका प्रेमी बन गया है. यह आपको बकवास भी लग सकता है. लेकिन गंभीरता से विचार करेंगे तो पता चलेगा कि यह कितना सही है.

अपने प्यार को अपनी फीलिंग बताएं. हो सकता है वह अपनी भावनाओं को व्‍यक्‍त करने में समय लगाए. लेकिन कुछ ही दिनों में आपका प्‍यार आपको मिल जाएगा. फिर देर किस बात की आज से ही कोशिश शुरु कर दें.


लेकिन अगर इन सवालों का जवाब न है और फिर भी आपका उसके प्रति आकर्षण कम नहीं हुआ बल्कि और बढ़ा है तो जरा संभल कर क्योंकि जिसे आप प्यार कह रहे हैं, हो सकता है वह महज दोस्ती का ही एक रुप हो.



Tags:                                                   

Rate this Article:

1 Star2 Stars3 Stars4 Stars5 Stars (11 votes, average: 4.09 out of 5)
Loading ... Loading ...

6 प्रतिक्रिया

  • SocialTwist Tell-a-Friend

Post a Comment

CAPTCHA Image
*

Reset

नवीनतम प्रतिक्रियाएंLatest Comments

Ricky Gamage के द्वारा
February 1, 2017

Those are yours alright! . We at least need to get these people stealing images to start blogging! They probably just did a image search and grabbed them. They look good though!

Vishal Kumar के द्वारा
August 6, 2012

मेरा नाम विशाल है में delhi में रहता हूँ मै ज्योति नाम की लड़की से बहुत प्यार करता हूँ वो बंगाल की रहने वाली है पर वो delhi में जिस के घर रहती है वो ओरत गलत है मैंने उसे बंगाल अपने घर भेजा पर वो दुबारा झूठ बोल क़र delhi उसी के घर आ गई इसलिए मेरी ज्योति से लड़ाई हो गई वो मेरी कोई बात नहीं मानती अब बताओ मै क्या करू मुझे उससे बात करनी चहिये या नहीं please halp me

umakant के द्वारा
January 8, 2012

dosti aur pyar ko samjhne ke liye sacha dil chahiye.. aaj pyar ko saririk sambandh ke liye hi istemal karte hai.ye pyar jhuta pyar hai. pyar use kahte hai jo dur hone par bhi yaad se dur na ho……….

atharvavedamanoj के द्वारा
December 10, 2010

thy friendship oft had made my heart to ache. do be my enmy for friendship’s sake…शायद अल्फ्रेड टेनिसन द्वारा लिखित ये पंक्तिया दोस्ती से उब कर लिखी गयी होगी|मेरे विचार से तो पत्नी ही सर्वोत्तम मित्र हुआ करती है ….’भार्या श्रेष्ठतम: सखा’ कहा भी गया है…एक अच्छा पोस्ट…बधाई हो..जय भारत

    राहुल के द्वारा
    January 4, 2011

    धन्यवाद

    Soni के द्वारा
    May 13, 2011

    dosti aisi cheej hai jiski jarurat har kisi ko mehsus hoti hai , bina dost k jivan adhura sa lagta hai , kabhi kabhi aisa hota hai k pyar k chakkar me hum apni dosti nahi nibha pate but jab wo pyar hume taklif deta hai to uss waqt humara dost hi hume sahara deta hai aisa meri life me hua hai So please My all Friends aap log aisi galti mat karna wo dost koi v ho uski care karna


topic of the week



latest from jagran