Dating Tips

जिन्दगी का महकता गुलदस्ता

218 Posts

666 comments

राहुल


Reader Blogs are not moderated, Jagran is not responsible for the views, opinions and content posted by the readers.

Sort by:

भागने के चंचल तरीके

Posted On: 17 Feb, 2014  
1 Star2 Stars3 Stars4 Stars5 Stars (6 votes, average: 3.83 out of 5)
Loading ... Loading ...

मस्ती मालगाड़ी में

1 Comment

जब गर्लफ्रेंड शादी के लिए जिद करने लगे

Posted On: 24 Nov, 2013  
1 Star2 Stars3 Stars4 Stars5 Stars (11 votes, average: 3.82 out of 5)
Loading ... Loading ...

मस्ती मालगाड़ी में

3 Comments

गर्लफ्रेंड चेप हो जाए तो….

Posted On: 22 Nov, 2013  
1 Star2 Stars3 Stars4 Stars5 Stars (4 votes, average: 4.75 out of 5)
Loading ... Loading ...

Others मस्ती मालगाड़ी में

1 Comment

पता नहीं वो मुझसे प्यार करता है कि नहीं

Posted On: 23 Oct, 2013  
1 Star2 Stars3 Stars4 Stars5 Stars (13 votes, average: 2.08 out of 5)
Loading ... Loading ...

मस्ती मालगाड़ी में

6 Comments

कसम से हर लड़की को भूल जाऊंगा

Posted On: 6 Oct, 2013  
1 Star2 Stars3 Stars4 Stars5 Stars (11 votes, average: 3.45 out of 5)
Loading ... Loading ...

Others हास्य व्यंग में

5 Comments

लड़कियां पटाने के लिए भी दिमाग चाहिए

Posted On: 14 Sep, 2013  
1 Star2 Stars3 Stars4 Stars5 Stars (19 votes, average: 4.16 out of 5)
Loading ... Loading ...

मस्ती मालगाड़ी में

2 Comments

Page 1 of 2212345»1020...Last »

नवीनतम प्रतिक्रियाएंLatest Comments

के द्वारा:

के द्वारा:

के द्वारा:

GET YOUR LOVE BACK जीवन मे कहीं बार ऐसा होता है की हमें कोई लड़का या लड़की या कोई आदमी या औरत हमें इतना अछा लगता है की वो हमारे लिए सब कुछ हो जाता है उसके बिना हम एक पल नहीं रह पाते पर जब हमसे वो नाराज़ हो जाये ,या हमें पसंद न करे ,कहीं शादी या सगाई हो जाये तब हम परेशान हो जाते है तब कोई भी रास्ता नहीं नज़र आता,बस आपका प्यार आपसे दूर न हो कोई भी परेशानी हो तो समाधान ले पंडित गोबिंद शर्मा अपनी दिव्या शक्ति से आपकी सारी परेशानी दूर करेंगे पंडित जी की सिद्धियो , शक्तियो और साधना का चमत्कार घर बैठे देखे CALL AND WHTSAPP 9812052465समस्या चाहे किसी भी प्रकार की हो- प्रेम संबंधों की समस्या, गृहक्लेश, किया-कराया, वशीकरण, सौतन दुख, गृहक्लेश, मनचाहा प्यार प,रूठे प्रेमी 9812052465

के द्वारा:

के द्वारा:

के द्वारा:

के द्वारा:

के द्वारा:

के द्वारा:

के द्वारा:

के द्वारा:

के द्वारा:

के द्वारा:

के द्वारा:

के द्वारा:

के द्वारा:

के द्वारा:

के द्वारा:

के द्वारा:

के द्वारा:

के द्वारा:

के द्वारा:

के द्वारा:

के द्वारा:

के द्वारा:

के द्वारा:

के द्वारा:

के द्वारा:

के द्वारा:

के द्वारा:

के द्वारा:

के द्वारा:

के द्वारा:

के द्वारा:

के द्वारा:

के द्वारा:

के द्वारा:

के द्वारा:

के द्वारा:

के द्वारा:

के द्वारा:

के द्वारा:

के द्वारा:

के द्वारा:

के द्वारा:

के द्वारा:

के द्वारा:

के द्वारा:

के द्वारा:

यूं तो लड़की पटाने के टिप्स, तरीके और सुझाव मैं बहुत दे चुका हूं पर लगता है अब कुछ अलग किया जाए सो अब तय कर लिया है कि कुछ कहानियां ही लिख दूं ताकि आप लोगों को भी कुछ मजा आए. यह कहानी जिंदगी की किताब से है जिसमें सच्चाई भी है और काल्पनिकता का अंश भी है. इस कहानी के जरिए मैं यह दिखाना चाहता हूं कि जिंदगी में प्यार कभी कभी हमें इतना मजबुर भी कर देता है कि हम सही और गलत के बीच फैसला नहीं कर पाते. यह कहानी का पहला भाग है इसलिए यहां मैं सही और गलत के बारें में नहीं लिखूंगा बल्कि कहानी के अंत में आपके लिए सवाल छोडुंगा कि क्या सही है और क्या गलत ? सभी शादी-शुदा मर्दो के लिए खास: लड़की पटाने के तरीके: Ladki Patane ke Tarike (Round-Up) “चाहा तो बहुत ना चाहे तुझे, चाहत पर मगर कोई ज़ोर नहीं दिल ही तो है तुम पे आ ही गया, दिल का सनम ये कसूर नहीं…”

के द्वारा:

के द्वारा:

के द्वारा:

के द्वारा:

के द्वारा:

के द्वारा:

के द्वारा:

के द्वारा:

के द्वारा:

के द्वारा:

के द्वारा:

के द्वारा:

के द्वारा:

के द्वारा:

के द्वारा:

के द्वारा:

के द्वारा:

के द्वारा:

के द्वारा:

के द्वारा:

के द्वारा:

के द्वारा:

के द्वारा:

के द्वारा:

के द्वारा:

के द्वारा:

के द्वारा:

के द्वारा:

के द्वारा:

के द्वारा:

के द्वारा:

के द्वारा:

के द्वारा:

के द्वारा:

के द्वारा:

<>>> 1 Deewana tha.. Ek ladka ek ladki se jan se jyada pyar karta tha ladki ki jati aur ladke ki jati ek nahi thi... Ladka us ladki se aksar puchta tha ki kya tum mujhse shadi karogi .....?? Ladki bolti ki ''kaise mere ma papa kabhi raji nahi honge aur mai bhag kar shadi nahi karungi...'' Ladka bola ki ''thik hai jab mai apne pairo pe khada ho jaunga tab tumhare papa se hath mangunga tumhara...'' Ladki kehti ki ''shadi se kya hota hai kya shadi ke bad mere dil me tumhara pyar kam ho jayega...'' Ladka soch me pad jata tha. Magar vo has ke bolta ''tum mujhe bhul jaogi...'' ladki bolti ''aisa kabhi nahi hoga...'' waqt bitta gya.. ladke ne kuch aise kam jaan...... bujhkar kiya ki ladki usse bahut jyada nafrat karne lagi.... Ladke ne uski bahen se bat ki ek din aur kaha '' mai jo bolta hu tum ise record kar lo aur jab tumhari didi ki shadi ho jaaye to use suna dena.......'' Jaisa ladke na socha tha, waisa hi hua ... ladki usse sabse jyada nafrat karne lagi... kyuki ladka uska viswas har bar janbujhkar todta tha.... Ladki usse is kadar nafrat karne lagi ki agr vo uske samne aa jaye to use goli mar de... Ladki ki shadi tay ho gai.... Dhum dham se uska vivah hua.... ladki bahut khus thi... shadi ke ek mahine bad vo apne mayke pahuchi.. Uski bahen ne kaha ''didi mere mob me apke liye kuch hai kya aap sunogi ...??? Ladki ne haste hue kaha ''ha chhoti sunao......'' Sound play hua Dosto, pta hai usme kya tha...... Us ladke ki awaj.. ''''dear DIKSHA, ye sach hai ki tumhare bina mai apni jindagi ki kalpana bhi nahi kar sakta... Mujhe pata hai ki tum aaj sabse jyada mujhse nafrat karti ho... Lekin mai tumhe kuch mahino ka dard deke hamesha khush dekhna chahta tha mujhe khusi hai ki tum khus ho mujhe bhulkar, mai yahi chahta tha.. ki tum mere liye apni zindagi mere yaad me na gujar do... maine tumse jo bhi badtamiji ki thi uske liye dil se mai mafi mangata hu... Mai nahi chahta tha ki meri DIkSHA mere jaise ke liye apni zindagi ki khusi ko khatm kar de.. Tum apne maa papa ki najro mein ab bhi uthi hui ho aur unhe hamare relation se koi taklif bhi nahi hui.. is se badi khusi mere liye kya hogi... apni jindagi ko hamesha haste hue gujarna meri parvah kiye bina.... Mai Tumse ab bhi waise hi Pyar Karta hu apna khyaal rakhna Jaan'''' kamre me sanatta aur siski ki awj... ladki ke aankho se aansu ki dhar beh nikli thi... vo gusse me aakar apni chhoti bahen ko chikhte hue boli ki tumne aisa kyu kiya, pehle kyu nahi bataya... Vo bechari chhoti kya kar sakti vo toh kasam ke dhage se bandhi jo the us ladke ke... ladki haath jodte hue boli ki ''chhoti agar tum meri bahen ho to plz usko call lagao..... plzzz z chhoti use calll lagao...'' Chhoti bhi apni didi ke aansu se pighal gayi usne ..call lagaya.. Call ki awaj ..trinnnng... ...trinnnng,.. ...trinnnng... ...trinnnng... kisi ne call uthaya Ladki - hello , Ladke ki ma- hello kaun'....? Ladki- anuti mai Diksha, Sunil kaha hai pliz meri usse baat karwa dijiye... Ladke ki ma- (rote hue..) kisse Sunil se...??? Ladki - ha aunty mere SUNIL se.. Ladke ki ma-- mera beta is duniya me nahi hai usne sucide kar liya... Larki- (rote hue) aunti kaise aur kab?? Kaise....h...u. ..aa ye sab.... Ladke ki ma- beti vo bahut udas ho gaya tha jab dekho tab kehta tha ki ''ek garib ke pyar aur sapne ki koi aukat nahi hoti'' FAASI LAGA li thi Usne pata nahi koun sa usne apni jindagi me kam kiya jo use aisa bana diya ( rone ki aawaj aur tej ho gai thi) Ladki- aunty kab kitne taarikh ko ( larki ke bhi aawaj nahi nikal rahi thi gala rindha hua tha) Ladke ki ma- 10 Feb ko... Ladki - kya.....???? (vo achanak jamin par gir padi) pata hai Dosto 10 FeB ko ladke ki mout se kya Rishta tha..??? Kyuki Dosto, ye 10 Feb wo hi taarikh thi Jis Din ladki ki shadi thi..... ''Aaj Mere Intezar Ki Jeet Hogayi Meri Mohabbat Ki Charcha Khule Aam Hogayi Kabhi Hum Ko Dhokha Diya Tha Tumne Ishq Mein Kaise Tum Mere Janaze Mein Shamil Hogayi Jab Poocha Logo Ne Ki Mera Tumse Rishta Kya Tha Aankhe Num Ker Humko Apna Pyar Tum Keh Gayi Jane Kaise Yeh Bin Badal Barsat Hogayi Mud Ke Bhi Dekho Yaaro Meri Mohabbat Aabad Ho gayi…'' -----jp

के द्वारा:

के द्वारा:

के द्वारा:

के द्वारा:

के द्वारा:

के द्वारा:

के द्वारा:

के द्वारा:

के द्वारा:

के द्वारा:

के द्वारा:

के द्वारा:

के द्वारा:

मेरा नाम हितेश हे में जिस लड़की से प्यार करता हु उसका नाम काजल हे वो मेरे सामने वाले माकन में ही रहती हे हम दोनों के घर के बिच सिर्फ एक दीवार ही हे वो भी मुजसे प्यार कराती हे हैम दोनों ने शादी भी कि थी पर शादी के दो महीने बाद जब हमारे घर वालो को पता चला तब मेरे घर वाले तो मान गए पर लड़की के घर वाले नहीं माने और लड़की के ऊपर प्रेशर कर के उन्हों ने हमारा डिवोस करवा दिया लेकिन डिवोस के १५ दिन बाद लड़की फिर से मेरे साथ बात करने कि कोशिश करने लगी और मुजसे कहा कि वो मुजसे अभी भी प्यार करती हे पर उसके घर वालो ने उसे प्रेसर में डिवोस करवाया था डिवोस के बाद लड़की ने मुझसे २ महीने तक बातचीत कि बाद बाद में धीरे धीरे वो मुजसे दुरी रखने लगी अब वो मुझसे कहती हे कि वो मुजसे बात नहीं करना चाहती क्योकि उस के घर वाले इस शादी से मना कर रहे हे वो लड़की मुझसे कहती हे कि उस के घर वाले मन जाये तो वो मुजसे शादी करने के लिए तैयार हे पर घर वालो कि मर्जी के बिना वो मुजसे शादी नहीं करेगी में जब उस के सामने होता हु तो वो मेरे सामने नहीं देखती पर जब में सामने नहीं होता तब कभी कभी वो चुपके से मेरे घर के सामने देखती हे मुझे कुछ समज नही आता कि वो लड़की मुझसे प्यार करती हे और मुझसे शादी करना चाहती हे कि नहीं मुझे प्लीज सही रास्ता दिखाए में उससे बहुत प्यार करता हु वो लड़की भी मुझे बहुत प्यार करती हे पर जब से उसके घर पे पता चला उसके बाद वो प्रेसर में आकर मुज से दूर जा रही हे में उसे केसे समजाओ

के द्वारा:

के द्वारा:

के द्वारा:

के द्वारा:

के द्वारा:

के द्वारा:

के द्वारा:

के द्वारा:

में एक सिंपल लड़का हु, साथ में बहुत सर्मिला में लड़कियो से बात तो करना चाहता हु पर बात कर नहीं पता क्यों कि मेरे मन में हमेसा एक दर रहता ह कि कोई पंगा हो सकता और न ही उस से जयादा कुछ बोल सकता मुझे एक लड़की से प्यार ह पर उसका पर उसका पता नहीं कि वो करती ह या नहीं वो अपने पापा कि दुकान में रहती ह में हमेसा उस से सामान लेता हु कबि कभी मेरे पास रात में बहुत काम होता ह तो में रात में २-३-१ बजे भी दूध या कुछ और सामान लाता हु वो देदेती ह उसके घर के नो. भी ह मेरे पास जब भी रात को सामान लेता हु पहले उसको पौन करता हु फिर सामान लेने जाता हु वो बिना कुछ बोले सामान दे देती ह अब बताओ क्या करू , उसने कभी कोई रिस्पोंस नहीं diya

के द्वारा:

के द्वारा:

मेरा नाम हितेश हे में जिस लड़की से प्यार करता हु उसका नाम काजल हे वो मेरे सामने वाले माकन में ही रहती हे हम दोनों के घर के बिच सिर्फ एक दीवार ही हे वो भी मुजसे प्यार कराती हे हैम दोनों ने शादी भी कि थी पर शादी के दो महीने बाद जब हमारे घर वालो को पता चला तब मेरे घर वाले तो मान गए पर लड़की के घर वाले नहीं माने और लड़की के ऊपर प्रेशर कर के उन्हों ने हमारा डिवोस करवा दिया लेकिन डिवोस के १५ दिन बाद लड़की फिर से मेरे साथ बात करने कि कोशिश करने लगी और मुजसे कहा कि वो मुजसे अभी भी प्यार करती हे पर उसके घर वालो ने उसे प्रेसर में डिवोस करवाया था डिवोस के बाद लड़की ने मुझसे २ महीने तक बातचीत कि बाद बाद में धीरे धीरे वो मुजसे दुरी रखने लगी अब वो मुझसे कहती हे कि वो मुजसे बात नहीं करना चाहती क्योकि उस के घर वाले इस शादी से मना कर रहे हे वो लड़की मुझसे कहती हे कि उस के घर वाले मन जाये तो वो मुजसे शादी करने के लिए तैयार हे पर घर वालो कि मर्जी के बिना वो मुजसे शादी नहीं करेगी में जब उस के सामने होता हु तो वो मेरे सामने नहीं देखती पर जब में सामने नहीं होता तब कभी कभी वो चुपके से मेरे घर के सामने देखती हे मुझे कुछ समज नही आता कि वो लड़की मुझसे प्यार करती हे और मुझसे शादी करना चाहती हे कि नहीं मुझे प्लीज सही रास्ता दिखाए में उससे बहुत प्यार करता हु वो लड़की भी मुझे बहुत प्यार करती हे पर जब से उसके घर पे पता चला उसके बाद वो प्रेसर में आकर मुज से दूर जा रही हे में उसे केसे समजाओ

के द्वारा:

के द्वारा:

के द्वारा:

के द्वारा:

के द्वारा:

के द्वारा:

के द्वारा: drvandnasharma drvandnasharma

के द्वारा: aman kumar aman kumar

के द्वारा:

के द्वारा:

के द्वारा:

के द्वारा:

के द्वारा:

सर\mam मेरा नाम कृष्णा है और जब से मैं माहि नाम की लड़की से प्यार करने लगा हूँ ज्यादाटार परेशां ही रहता हूँ मई उससे बहुत प्यार करता हूँ और उसे किसी भी कीमत पर पाना चाहता हूँ मगर वो सैनी है और मई विश्वकर्मा मतलब हमारी जाती अलग है हमारे रिलेशन को लगभग २ १\२ इयर्स हो गए हैं मगर मैंने उसके साथ कभी कोई गलत हरक़त नहीं की मई उससे शादी भी करना चाहता हूँ वो भी कहती है की मैं भी तुमसे प्यार करती हूँ मगर ना जाने क्यूँ मैं जब भी मिलने की बात करता हूँ तो बस सिर्फ ना ही कहती है और इतने दिनों में हमारे बीच सिर्फ एक किस ही हुआ है अब जैसा की दीवाली आने वाली है तो मैंने उससे बोला की मई मेले में उसे किस करना चाहता हूँ तो उसने कॉल एंड कर दी और फिर मुझे भी गुस्सा आ गया तो मैंने भी कॉल नहीं लौटाई पर जैसा की मई बता चूका हूँ की मैं उससे बहुत प्यार करता हूँ और उसके बिना जी नहीं सकता और फिर हमारी हमारी बात होने का एक ही तो जरिया है मोबाइल फ़ोन मगर वो स्विच ऑफ है मई उससे अगर एक दिन भी बात न करूँ तो मई खाना भी ठीक से नहीं खा पाता औरर मई चाहता हूँ की वो मुझसे मिलने के लिए भी हाँ कर दे और किस भी करे कभी कभी तो मुझे लगता है की उसकी जिंदगी में मेरे आलावा भी कोई है मगर जब वो मुझे प्यार से जानू कहती है तो मैं सब भूल जाता हूँ अब आप ही बताओ की मैं कैसे पता लगाऊं की मेरे अलावा उसकी जिंदगी में कोई और तो नहीं और ऐसा कोई राश्ता बताइए की जिससे वो मिलने भी आये और किस भी करे पर प्लीज जरा जल्दी जवाब दीजिये क्यूँ की अगर उसने मुझे छोड़ा तो मैं मर जाऊंगा और क्या आप चाहते की किसी सच्चे प्यार करने वाले की जान आपके एक जवाब ना आने की वजह से हो आपका लव स्टूडेंट --- कृष्णा कुमार you can call me on 09759677858 or आप मुझे अपना जवाब मेरे इ-मेल पर भी दाल सकते हैं somyakrishna47@gmail.com और अगर आपका कोई पर्सनल नंबर है तो प्लीज मेरी ईद पर दिल दाल देना मई आपका एहसानमंद जिंदगी भर रहूँगा plzzzzzzzzzzzzz जरा जल्दी करना

के द्वारा:

के द्वारा:

के द्वारा:

के द्वारा:

के द्वारा:

के द्वारा:

के द्वारा: arshad9541 arshad9541

के द्वारा:

के द्वारा:

के द्वारा:

के द्वारा:

के द्वारा:

के द्वारा:

के द्वारा:

के द्वारा:

के द्वारा: ajaydubeydeoria ajaydubeydeoria

के द्वारा:

के द्वारा:

के द्वारा:

के द्वारा:

के द्वारा:

के द्वारा:

के द्वारा:

के द्वारा:

के द्वारा:

के द्वारा: राहुल राहुल

के द्वारा:

के द्वारा:

के द्वारा:

के द्वारा:

के द्वारा: राहुल राहुल

के द्वारा:

के द्वारा:

के द्वारा: वाहिद काशीवासी वाहिद काशीवासी

के द्वारा:

के द्वारा:

के द्वारा: राहुल राहुल

के द्वारा: राहुल राहुल

के द्वारा: राहुल राहुल

के द्वारा:

के द्वारा:

के द्वारा: बी एस पाबला बी एस पाबला

राहुल जी बढ़िया और व्यवहारिक चिंतन है आपका ..........जानवर भी जानते हैं कि प्रेम कैसे करना, और आदमी को सीखना पड़ता है. ..एक लाईन में ये अर्थ है की आज समय के साथ सारी परिभाषाये बदल गई है... आज प्रेम सभी मर्यादाओ को तोड़ने का नाम है... ..अमर्यादित प्रेम .यह मन का आत्मा समर्पण नहीं चाहता बल्कि शरीर का समर्पण चाहता है...यह सिमित है कुछ गिफ्ट ,कार्ड, और कुछ विशेष दिनों में . आज प्रेम लस्ट ( भूख ) का विषय है सुख का नहीं ....मै सहमत हु इस बात से की इस सम्बन्ध में बहुत बड़ी क्रांति आने वाली है ..क्यों की आपके तन मन ,,, सोच व्यवहार सपने इछाये सब पर बाजार का कब्ज़ा है... बाजार तय करता है की आप अपने साथी को कितना खुश कर सकते है कैसे खुश कर सकते है ...... मुझे आपकी लेख की कुछ पंक्तिया बहुत बेहतरीन लगी... सटीक बाते कही है आपने... युस एंड थ्रो ..का सिद्धांत हमारे जीवन के हर हिस्से पर प्रभावी हो चूका है .. .. ओशो को मैंने बहुत नहीं पढ़ा.... पर जितना जाना है वह यही हैकि ओशो भी जब कहते है की सम्भोग इतना करो की उससे विरक्ति हो जाये,,, और फिर तुम समाधी को प्राप्त हो जाओगे... तो वे भी एक तरह के व्यभिचार को ही प्रोत्साहित कर रहे है ..क्योकि यह प्रेम का हिस्सा है ..अर्थ नहीं है..और अति व्यभिचार का अंत कभी समाधी नहीं हो सकता क्योकि एक व्यभिचारी व्यक्ति तो रोज नए नए.. तरीके ढूंढता है व्यभिचार के...

के द्वारा: NIKHIL PANDEY NIKHIL PANDEY

के द्वारा:




latest from jagran